History of NETWORK MARKETING, DIRECT SELLING, MLM Hindi

दोस्तों दुनिया में जो भी चीज़ मौजूद उसका कुछ न कुछ इतिहास जरूर रहा हे, चाहे वो कोई कंपनी हो या कोई भी इंडस्ट्री सबका एक इतिहास होता हे. तो दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं डायरेक्ट सेलिंग या नेटवर्क मार्केटिंग इडस्ट्री के इतिहास के बारे में.

दुनिया के अंडर ऐसे हजारो डायरेक्ट सेलिंग की कम्पनिया हे जो डायरेक्ट सेलिंग कर रही हे क्या आपको पता है की कोनसा सबसे पहला बंदा था जिसके दिमाग में ये डायरेक्ट सेलिंग का आईडिया आया होगा की हम अपने प्रोडक्ट को डायरेक्ट सेलिंग के द्वारा भी बेच सकते हे. तो चलिए में मेरे साथ आगे.

दोस्तों डायरेक्ट सेलिंग का ये सफर सन 1886 में शुरू हुआ था AVON नाम की एक कंपनी से और इस कंपनी को शुरु करने वाली महिला का नाम था MRS. PFE ALBEE. इन्होने आपके करियर की सुरुवात घर, घर जाकर परफ्यूम बेच कर की थी. इससे उन्हें अच्छा खाशा मुनाफा भी हुआ था

MRS. PFE ALBEE
Image Source: Google

दोस्तों उसके बाद 1991 यूनाइटेड स्टेट ने the first direct selling association fund लागु कर दिया था जिसे बाद में the agent credit association बोला गया। फिर इमरजेंसी का ऐसा दौर आया की 1930 में लोगो को घरो के अंडर जाकर अपने प्रोडक्ट के बारे में बताने लगे और इस तरीके को part plan method के नाम से जाना गया.

सन 1951 में Tupperware नाम की कंपनी की शुरुवात हुई. जो आज भी मार्किट में अपनी अच्छी पहचान बनाये हुए हे. Tupperware में सबसे पहले Retail and Party Plan Method द्द्वारा अपना बिज़नेस शुरू किया और इन्होने शुरुवाती दौर में ही बहुत कामयाबी मिली। और फिर Mary KAY ASH जिन्होंने अपनी पूरी ज़िंदगी सेविंग्स डायरेक्ट सेलिंग बिज़नेस में लगा दी और उन्हें बाद में अपार सफलता भी मिली।

सन 1991 में दुनिया के अंडर इंटरनेट आ चूका था इंटरनेट आने के बाद आप सब जानते ही की कैसे दुनिया एक दूसरे से जुड़ चुकी थी. सन 1995 और 1996 में भारत में डायरेक्ट सेलिंग कंपनी अपनी एंट्री कर चुकी थी सबके पहले भारत के स्वीडन की एक कंपनी आयी उसी कंपनी के तरीके को फॉलो करके कुछ इंडियन डायरेक्ट सेलिंग कम्पनीज ने अपनी शुरुवात की. उसके बाद डायरेक्ट सेलिंग कंपनी को बहुत बुरा दौर देखना पड़ा क्युकी उस समय बहुत धोका धड़ी के काम किये जाने लगे थे जिसे GRAY MARKETING भी कहते है और भी भारत में IDSA यानि INDIA DIRECT SELLING ASSOCIATION का निर्माण हुआ IDSA का काम था की मार्किट में जो भी धोका धड़ी से डायरेक्ट सेलिंग कम्पनीज को चला रहा है उन पर ताला लगाया जाये। और इस दौरान 2003 से 2015 तक IDSA ने सरकार से जुगरीश की डायरेक्ट सेलिंग को लेके एक Regulatory Body तैयार की जाये ताकि जो लोग डायरेक्ट सेलिंग का बिज़नेस करना चाहते हे वो क़ानूनी तोर पर इस बिज़नेस को कर सके.

INDIA DIRECT SELLING ASSOCIATION
Image Source: Google

सन 2015 में सरकार ने ये बताया की डायरेक्ट सेलिंग इंडस्ट्री ने अब तक 45 billion INR का बिज़नेस कर लिया हे और 2025 के आते आते ये इडस्ट्री 645 billion INR का बिज़नेस करेगी। 9 सितम्बर 2016 को सरकार ने डायरेक्ट सेलिंग को लेके नियम लागू कर दिए थे इन नियमो के तहत जो भी कम्पनिया गलत तरीके से उन्हें बंद किया जाये और जो कम्पनिया इन नियमो को मानती ही उन्हें और बढ़ावा दिया जाये. आज के समय में जो भी कंपनी डायरेक्ट सेलिंग कर रही हे उसके पास सरे सरकारी दतावेज और प्रमाण पत्र हैं. और अगर आप जानना चाहते है की आप जिस कंपनी के साथ आप बिज़नेस कर रहे हे वो लीगल हे या नहीं तो Direct Selling Registered Companies List in India 2019-2020 पे क्लिक करे.

तो दोस्तों उम्मीद करता हु आपको मेरी ये पोस्ट पसंद आयी होगी। इसे अपने बिज़नेस पार्टनर और दोस्तों के के साथ शेयर कीजिये। धन्यवाद में कुलदीप सिंह.

और पढ़े: नेटवर्क मार्केटिंग का भविष्य

 

 

 

क्यों नेटवर्क मार्केटिंग आपकी नौकरी से बेहतर है

जॉब करना बहुत हिम्मत का काम हैं “I slute to everyone who doing a JOB” लेकिन दोस्तों में आपको बता दू उससे ज्यादा मुश्किल हे खुद का नेटवर्क बनाना. और अगर अपने डिसाइड कर लिया हैं की आपको नेटवर्क मार्केटिंग करना ही हैं अपनी फॅमिली और अपने अच्छे फ्यूचर के लिए.

पहली बात तो नेटवर्क मार्केटिंग सभी के लिए बेहतर नहीं है, लेकिन यह मेरे लिए है। और यदि आप मेरी ही तरह थोड़ा भी सोचते हैं, तो यह आपके लिए भी बेहतर हो सकता है। सबसे पहले, आप निचे दिखाई गयी सरणी की तुलना करें और देखें कि नेटवर्क मार्केटिंग नौकरी से बेहतर क्यों है।

Network Marketing V/S  Job
Network Marketing Job
आप खुद मालिक हैं कोई और आपका मालिक है
आप अपना समय नियंत्रित कर सकते हैं वे आपके समय को नियंत्रित करते हैं
आप तय करते हैं कि क्या करने की जरूरत है वे तय करते हैं कि क्या करने की जरूरत है
आप तय करते हैं कि यह कैसे किया जाता है वे तय करते हैं कि यह कैसे किया जाता है
छुट्टी लेने के लिए किस से पूछना नहीं पड़ता छुट्टी की आवश्यकता है? निवेदन करना पड़ेगा !
कितना पैसा कमाना चाहते, ये आपके हाथ में हैं अधिक पैसा चाहते हैं? निवेदन करना पड़ेगा!

मुझे लगता है कि अब आपको बात समझ आ गयी है। जब आप नौकरी करते हैं, तो तो आप अपने बॉस के लिए काम करते है। वही आपके समय को नियंत्रित करते हैं

लेकिन जब आप नेटवर्क मार्केटिंग को चुनते हैं तो आप अपनी कमाई को खुद से डिसाइड करते हैं और सभी निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र होते हैं।

नेटवर्क मार्केटिंग सभी के लिए नहीं है

हर कोई ऐसा नहीं कर सकता। सभी चाहते भी नहीं हैं। और वह महान है।

मेरे लिए यह बात ठीक है कि नेटवर्क मार्केटिंग नौकरी से बेहतर क्यों है। नेटवर्क मार्केटिंग मुझे पसंद है और मैं अपना खुद का बॉस बन सकता हूं। मैं हर सुबह अपनी मर्ज़ी से उठ सकता हूं, मुझे पता होता हैं कि आज मुझे क्या करना है। अगर आप भी ऐसा ही सोचते हैं, तो नेटवर्क मार्केटिंग आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

नेटवर्क मार्केटिंग में सफल होने के लिए आपको खुद मोटिवेटेड होना होगा क्योंकि आपको क्या करना है यह बताने वाला कोई नहीं होगा। आपको उन सभी समस्याओं को संभालने में सक्षम होना होगा जो नेटवर्क मार्केटिंग करते समय आती हैं

मैं अपने नेटवर्क मार्केटिंग व्यवसाय से पूरी तरह से खुस हु.

नेटवर्क मार्केटिंग आपका सर्वश्रेष्ठ विकल्प क्यों हो सकता है 20 कारण

अगर आप नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस में नए हैं, या नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस के बारे में सोच रहे हे तो भारत की वर्तमान अर्थव्यवस्था को देखते हुए यह आपकी जिंदगी का महतवपूर्ण निर्णेय हो सकता हैं

अगर आप सच में नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस में कामयाब होना चाहते हे तो आपको पहले ये जान लेना चाहिए की आपको नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस में क्यों होना चाहिए

वैसे तो में आपको बहुत सरे ऐसे कारण बता सकता हु लेकिन आज में आपको 20 ऐसे कारण बताऊंगा जिनकी वजह से ये आपकी ज़िन्दगी का सबसे अच्छा फैसला हो सकता हैं

1. कंही से भी काम करने की आज़ादी: मान लीजिये आप नौकरी में तो ज़ाहिर सी बात हे आपका ऑफिस भी होगा और आपको काम करने के लिए रोज़ अपने ऑफिस जाना ही पड़ता होगा। लेकिन वही नेटवर्क मार्केटिंग में आप किसी भी शहर में रह कर इसमें आसानी से काम कर सकते हैं बस आपके पास एक स्मार्ट फ़ोन और इंटरनेट होना चाहिए.

2. खुद काम का समय निर्धारित करना: यह मेरा सबसे पसंदीदा कारण हैं में अपने काम के घंटे खुद से तय कर सकता हु. में अपने समय के हिसाब से अपनी मीटिंग्स सेट कर सकता हु. लेकिन वही अगर में नौकरी में हु या मेरा कोई Traditional Business हे तो मुझे नौकरी में 8 से 10 घंटे और बिज़नेस में 10- से 12 घंटे रोज़ के देने ही पड़ेंगे। में चाह के भी अपने टाइम के हिसाब से काम नहीं कर सकता, और नेवार्क मार्केटिंग की सबसे अच्छी बात ये हे की मुझे 1 दिन की छुट्टी के लिए किसी से विनती नहीं करनी पड़ती।

3. काम लगात: आप नेटवर्क मार्केटिंग बिज़नेस को एक बहुत छोटी रकम के साथ सुरु कर सकते हैं बस आपके पास थोड़ा समय होना चाहिए। और अगर आप मार्किट में कोई नया बिज़नेस सुरु करने के बारे में सोच रहे तो में आपको बता दू आपको कम से कम 1 से 2 लाख रुपए लगाने ही पड़ेंगे, और अगर आपको यकीं ना हो तो अपने नज़दीक किसी पान या सब्ज़ी बेचने वाले से पूछना उनसे अपना बिज़नेस कितने रुपए से सुरु किया था.

4. कोई कर्मचारी नहीं: नेटवर्क मार्केटिंग में जैसे आप सिर्फ अपने सपनो के लिए काम कर रहे हो ठीक वैसे ही सब अपने सपने पूरे करने के लिए काम कर रहे, यहां आपको न किसी को कोई सैलरी देने की चिंता हे और किसी तरह के सरकारी खर्चे की चिंता, जैसे की एक ट्रेडिशनल Business में होती हैं। कोई भी आपको सैलरी बढ़ाने के लिए नहीं पूछता है। केवल एकमात्र कर्मचारी जिसके बारे में आपको चिंता करने की ज़रूरत है वह आप खुद है।

5. पुरुषों / महिलाओं / आयु / जाती के बीच कोई भेदभाव नहीं है: नेटवर्क मार्केटिंग में प्रवेश करने से पहले आपसे कभी नहीं पूछा जाता की आपकी उम्र, धरम और जाती क्या हैं. वरना तो किसी भी सेक्टर को देख लीजिये वहा आपको इस तरह के सवालो का सामना जरूर करना पड़ता होगा। यह सभी के लिए एक सामान अवसर हैं

6. व्यक्तिगत विकास: यह मेरे लिए पैसे भी अधिक मायने रखता हैं आपके बिसनेस के साथ साथ आपके व्यक्तिगत जीवन का भी विकास होना चाहिए. नेटवर्क मार्केटिंग में आपको अपने बिज़नेस को और आगे ले जाने के लिए अपने व्यक्तिगत विकास पे भी देना होता हैं. आपको वो इंसान बनना पड़ता हैं जो लोगो को प्रोत्साहित कर सके, उनके सपने पुरे करवाने में उनकी मदद कर सके. इस बिज़नेस में आने के बाद आप अपने अंडर कमाल का व्यक्तिगत बदलाव देखंगे.

7. अवशिष्ट आय: इस आय का मतलब है की एक ऐसे आय जिसके लिए आपको काम न करना पड़े. जो लोग आज नेटवर्क मार्केटिंग में सफल हो चुके हैं वो इस अद्भुत आय की शक्ति को समझ सकते हैं सोचिये जब आप काम नहीं कर रहे हे और तब भी आपके पास आय आ रही हैं और महीने दर महीने बढ़ती जा रही हैं सोचिये अगर कुछ साल मेहनत करने के बाद अगर आपको भी ये आय आने लगे तो आप केसा महसूस करेंगे.

8. सामाजिक कुशलता – नेटवर्क मार्केटिंग में आने के बाद आप एक बेहतर इंसान बन जाते हैं जिसकी वजह से आप अन्य छेत्रो में भी लोकप्रिय होने लगते हैं. इस बिसनेस में आने के बाद आप महसूस करेंगे की आसपास के लोग आपको और ज्यादा प्यार और इज्जत देने लगे हैं

9. कोई आवागमन नहीं: एक चीज जो हम कभी नहीं पा सकते हैं वह है समय। समय एक ऐसी चीज है जिसके बारे में हमें लगता है कि कभी भी पर्याप्त नहीं है। जरा सोचिये जब हम ऑफिस जाते हैं तो हमे हमे कितना ट्रैफिक और सड़क के झगडे झेलने पड़ते हैं. और उस समय का हमे को भुगतान भी नहीं मिलता हैं, लेकिन एक नेटवर्क मार्केटिंग वाला इस समय का पूरा आनंद ले सकता हैं

10. तनाव मुक्त वातावरण में काम करने की क्षमता: आज लोग चिंता भरे वातावरण में काम कर रहे हैं। अधिक से अधिक नौकरियों को आउटसोर्स किए जाने के साथ, कम नौकरियां उपलब्ध हैं। कम्पनिया कम भुगतान कर रही हैं लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग के साथ आप अपने घर जैसे आराम के साथ काम कर सकते है. डर और तनावमुक्त काम है। सोचिये आप अपना खुद का सपना सच कर रहे हैं, या किसी और का।

11. तुरंत लाभ – जैसा की अपने देखा और सुना होगा की कोई भी नया बिज़नेस जब शुरू किया जाता हैं तो काम से काम 2 से 3 साल तक कोई लाभ नहीं होता हैं लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग में आप पहले दिन से ही लाभ ले सकते हैं.

12. कोई बिलिंग / कोई उधर नहीं: आपको अपने किसी भी ग्राहक को बिलिंग करने या किसी भी पैसे को इकट्ठा करने के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है, यह सब ऑनलाइन नियंत्रित किया जाता है,
लेकिन वही अगर दूसरे बिज़नेस के बारे में सोचा जाये तो वह बिलिंग, अकाउंटिबिलिटी और उधर के पेसो के लिए कई दिनों तक इंतज़ार करना पड़ता हैं

Secrets of Network Marketing Business

Future of Network Marketing in India

 

 

 

क्या है जिंदगी | What is Life

क्या है जिंदगी

** जीवन की आधी उम्र तक पैसा कमाया **
** पैसा कमाने में इस सरीर को ख़राब किया **
** बाकि आधी उम्र तक उसी पैसे को **
** शरीर ठीक करने में लगाया **
** न शरीर बचा, न पैसा **

क्या है जिंदगी

** शमशान के बाहर लिखा था **
** मंज़िल तो तेरी यही थी **
** बस ज़िन्दगी गुज़र गयी आते आते **
** क्या मिला तुझे इस दुनिआ से **
** अपनों ने ही जला दिया तुझे जाते जाते **

 

क्या है जिंदगी

** दौलत की भूक ऐसे लगी की कमाने निकल गए **
** जब दौलत मिली तो हाथ से रीस्ते निकल गए **
** बच्चो के साथ रहने रहने की फुर्सत न मिल सकी **
** फुर्सत मिली तो बच्चे कमाने निकल गए **

How to Win and Influence Peoples

STEP 1

⇐How to Make People Like You⇒

Principle 1: Become Genuinely Interested in other Peoples

Principle 2: Smile

Principle 3: Remember That’s a person name is to that person the Sweetest and most important sound in any language.

Principle 4: Be a good listener, Incourage other to talk about themselves.

Principle 5: Talk in term of the others person’s Interested.

Principle 6: Make the other person feel important – and do it sincerely.

STEP 1

⇐How to Win People To Your Way of Thinking⇒

Principle 1: The only way to get the best of an Argument is to avoid it.

Principle 2: Show respect of the other person opinion. Never say, You are Wrong.

Principle 3: If you are wrong, Admit it quickly

Principle 4: Being in a friendly way

Principle 5: Get the other person saying “Yes, Yes” Immideitly

Principle 6: Let the other person do a great deal of the talking

Principle 7: Let the other person feel that the idea is his or hers.

Principle 8: Try Honestly to see things from the other person’s point of view.

Principle 9: Be sympathetic with the other person’s ideas and Diaries

Principle 10: Appeal to the nobler motives

Principle 11: Dramatise your ideas

Principle 12: Throw down a Challange